Breaking NewsCrimeSonipat

लोगों की अश्लील वीडियो बनाकर व पुलिस अधिकारी बनकर साइबर ठगी करने वाले गिरोह के 5 सदस्यों ने किये कई बड़े खुलासे

सोनीपत :- सोनीपत सहित देश भर में लोगों की अश्लील वीडियो बनाकर व पुलिस अधिकारी बनकर साइबर ठगी करने वाले गिरोह के 5 सदस्यों ने पुलिस पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं। आरोपियों ने बताया कि ठगी की रकम को पाने के लिए वह मध्यप्रदेश के दतिया में जाते थे। यहां लोगों को झांसा देते थे कि गवर्नमेंट की स्कीम आई है, जो बैंक खाता खुलवाएगा उसे तीन हजार रुपए मिलेंगे।

इस तरह से यहां काफी लोगों के बैंक खाते 3-3 हजार रुपए देकर खोले और फिर बैंक खाता व उसके दस्तावेज अपने पास रख लिए। इसके बाद आरोपियों ने इन बैंक खातों में लोगों से ठगी गई रकम ट्रांसफर की। यहीं नहीं आरोपियों ने चेन बनाकर काम किया। इस चेन में राजस्थान, मेवात के आरोपियों को भी जोड़ा। गिरोह के कुछ आरोपी बैंक खातों से एटीएम के जरिये रकम निकालते थे और कुछ आरोपी अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैक मेल करने का काम करते थे। इस तरह से यह गिरोह अब तक देश में 1925 लोगों को अपना शिकार बना चुका है। गिरोह के कई मास्टरमाइंड को लेकर सोनीपत पुलिस की दो टीमें मध्यप्रदेश, राजस्थान , पलवल व मेवात में रेड कर रही हैं। सोनीपत के एक पीड़ित से आरोपियों ने इन बैंक अकाउंट में दो लाख रुपए ट्रांसफर करवाए थे।

कुंडली थाना क्षेत्र के व्यक्ति ने एक फरवरी को साइबर थाना पुलिस को शिकायत देकर बताया था कि उनके पास 27 जनवरी की रात को वीडियो कॉल आई थी। जिसमें कोई युवती निर्वस्त्र दिखाई दी थी। उसने कॉल करने के बाद उनकी अश्लील वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल करने व रिश्तेदारों के पास भेजने की धमकी दी थी। आरोपियेां ने वीडियो को सोशल मीडिया से हटाने की एवज में 7.76 लाख रुपए ट्रांसफर करा लिए थे।

साइबर थाना प्रभारी बसंत कुमार की टीम में एएसआई संजीव, एएसआई संदीप, हेड कांस्टेबल नरेंद्र, हेड कांस्टेबल गुलशन व सिपाही विकास ने लगातार इस केस पर काम किया। मामले को लेकर डीसीपी ईस्ट गौरव राजपुरोहित ने बताया कि लोगों को झांसे में लेकर कोई रुपये मांगे तो उसे पैसे देने के बजाय पुलिस को शिकायत करें। पुलिस हर संभव मदद कर आरोपियों को गिरफ्तार करेगी। ^ठगी करने वाले गिरोह को पकड़वाने के लिए लोग पुलिस की मदद करें। यदि कोई लालच देकर या ब्लैकमेल करके ठगी करने का प्रयास कर रहा है तो पैसे देने के बजाय पुलिस को शिकायत करें। पुलिस हर संभव मदद कर आरोपियों को गिरफ्तार करेगी। -बसंत, साइबर थाना प्रभारी सोनीपत।

साइबर ठगी करने के लिए गिरोह ने पूरी प्लानिंग बनाकर काम किया। हर काम के लिए अलग-अलग टीम बना रखी थी। जैसे एटीएम से पैसे निकालने के लिए अलग से टीम, अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाली अलग से टीम, लोगों को बहाकर बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए अलग से टीम काम करती थी। आरोपी कमीशन पर काम करते थे। गिरोह में एक दर्जन भर आरोपी होने की संभावना है। अभी तक पुलिस ने पांच आरोपियों को काबू किया है।

12 आधार कार्ड बरामद आरोपियों से दो मोबाइल, दो सिम, 12 आधार कार्ड, 8 पेन कार्ड, 16 डेबिट कार्ड, 5 चेकबुक, 5 पासबुक बरामद की गई हैं। आरोपी आधार कार्ड के जरिये भी ठगी की गई रकम निकलवा लेते थे।

Khabar Abtak

Related Articles

Back to top button