AgricultureBreaking NewsGohanaSocial

गोहाना में किसानों के बेमियादी धरने के 22वें दिन किसानों ने फूंका पी.एम. का पुतला

गोहाना :-19 फरवरी अपनी खराब फसलों के मुआवजे तथा छल करने के आरोप में रिलायंस कम्पनी के खिलाफ बेमियादी धरने पर बैठे किसानों ने 22 वें दिन पी.एम. नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका। प्रदर्शन का नेतृत्व भारतीय किसान यूनियन की हरियाणा इकाई के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यवान नेरवाल ने किया।

सोनीपत जिले के किसान 29 जनवरी से गोहाना के लघु सचिवालय में एस.डी.एम.कार्यालय के बाहर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं। उनका आरोप है कि पी. एम. फसल बीमा योजना के तहत रिलायंस कम्पनी ने समय सीमा बीत जाने के बाद उनकी पालिसियां रद्द कर प्रीमियम की रकम मात्र इस लिए लौटा दी ताकि कम्पनी को किसानों को उनकी खराब हुई फसलों का भारी-भरकम मुआवजा न देना पड़े। किसान इस धोखाधड़ी के लिए कम्पनी पर केस दर्ज करवाना चाहते हैं।

भाकियू के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यवान नरवाल ने कहा कि रिलायंस कम्पनी पी. एम. के मित्र अंबानी की है। ऐसे में इस कम्पनी के सब गुनाह माफ हैं तथा राजकीय संरक्षण के चलते उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने प्रदेश के कृषि सलाहकार पर भी कार्रवाई की मांग की। नरवाल ने कहा कि किसानों की जिस अपील का फैसला एक महीने में हो जाना चाहिए था, सलाहकार उस अपील को सालभर से अपने पास दबाए बैठे हैं।

सत्यवान नरवाल ने कहा कि जब तक किसानों को उनकी खराब हुई फसलों का मुआवजा नहीं मिल जाएगा, तब तक उनका बेमियादी धरना लगातार जारी रहेगा। उनके अनुसार जो कोई रिलायंस कम्पनी से सांठ-गांठ का आरोपी है, उन सब के पुतले बारी-बारी से आने वाले दिनों में फूंके जाएंगे। पुतला दहन के प्रदर्शन में राजमल मलिक, राजेश कुमारी मलिक, राम किशन मलिक, पाले राम मलिक, अमित मोर, सुरेश मोर, सोनू नरवाल, सुरेश नरवाल आदि ने भाग लिया।

Khabar Abtak

Related Articles

Back to top button