Breaking NewsNCR

INLD के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी पर बदमाशों ने करीब 40 राउंड गोलियां चलाई, हमले में राठी और उनके एक सुरक्षाकर्मी की मौत, 2 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए

बहादुरगढ़ :-हरियाणा में पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला की पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी पर रविवार शाम कुछ लोगों ने करीब 40 राउंड गोलियां चलाईं। झज्जर जिले में बहादुरगढ़ के बराही फाटक के पास हुए हमले में राठी और उनके एक सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई, जबकि 2 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

पुलिस के मुताबिक राठी कार की फ्रंट सीट पर बैठे थे। उनके गले और कमर में गोलियां लगी थीं। घायलों का इलाज ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल में चल रहा है।

हमले के वक्त राठी अपनी फॉर्च्यूनर कार में सवार थे, जबकि हमलावर आई-10 कार से आए। झज्जर के एसपी अर्पित जैन ने कहा कि इस मामले में क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (CIA) और स्पेशल टास्क फोर्स (STF) को लगा दिया गया है।

इस वारदात के पीछे गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके करीबी काला जठेड़ी पर शक जताया जा रहा है। शुरुआती जांच में हत्या के पीछे प्रॉपर्टी का विवाद बताया जा रहा है।

इनेलो विधायक अभय चौटाला ने कहा कि नफे सिंह राठी जान का खतरा बताकर सरकार से सिक्योरिटी मांगी थी लेकिन उन्हें सुरक्षा नहीं दी गई।

I-10 कार में आए बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग
रविवार को नफे सिंह राठी अपनी फॉर्च्यूनर गाड़ी में अपने 3 गैनमैन और ड्राइवर के साथ कहीं जा रहे थे। नफे सिंह राठी खुद ड्राइवर के साथ अगली सीट पर बैठे थे। पीछे की सीट पर उनके गनमैन थे। उनके काफिले में एक-दो गाड़ियां और भी थीं।

शाम लगभग 5 बजे के आसपास जब नफे सिंह राठी की गाड़ी बराही रेलवे फाटक के पास पहुंची तो I-10 कार में आए कुछ हमलावरों ने राठी को निशाना बनाते हुए अचानक ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। हमलावरों ने फॉर्च्यूनर गाड़ी पर उसी तरफ गोलियां बरसाईं जिस तरफ राठी बैठे थे।

राठी की साइड 6 बुलेट आर-पार
इस फायरिंग में राठी वाली साइड पर गाड़ी की बॉडी से कुल 6 बुलेट्स आर-पार हो गईं। कुछ गोलियां खिड़की के शीशे को तोड़कर भी राठी को लगीं।

गाड़ी की पिछली सीट पर बैठे गनमैनों को टारगेट करते हुए जो फायरिंग की गई, उनमें से 4 गोलियां गाड़ी की बॉडी के आरपार हो गईं। कुछ बुलेट्स विंडो के कांच को तोड़कर भी सुरक्षाकर्मियों को लगीं।

सब कुछ इतना जल्दी हुआ कि राठी या उनके सुरक्षाकर्मियों को संभलने तक का मौका नहीं मिला। हमलावरों का टारगेट सीधे नफे सिंह राठी ही थे इसलिए उन्होंने फॉर्च्यूनर गाड़ी पर सामने की तरफ से कोई फायरिंग नहीं की। यही वजह रही कि गाड़ी की विंडशील्ड को इस फायरिंग में कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

डॉक्टर बोले- 2 की अस्पताल आने से पहले मौत हो चुकी थी

संजीवनी अस्पताल के डॉक्टर मनीष शर्मा ने बताया कि यहां 4 लोगों को लाया गया। गोली लगने की वजह से उन्हें काफी ब्लीडिंग हो रही थी। 2 मरीजों की ज्यादा ब्लीडिंग की वजह से पहले ही मौत हो चुकी थी। अभी 2 मरीज ICU में भर्ती किए गए हैं। उनको भी कंधे, जांघ और छाती में गोली लगी है।

मरने वालों में नफे सिंह राठी और कृष्णपाल हैं। मृतकों की गर्दन, पेट के पीछे वाले हिस्से, पीठ और गर्दन में गोली लगी थी। उन्होंने बताया कि मल्टीपल फायरिंग हुई है। मेजर वेसेल डैमेज हुई है। ज्यादा रक्त बहना मौत का कारण बना। दोनों घायलों की हालत नाजुक बनी हुई है। एक घायल की ब्लड प्रेशर काफी लो चल रहा है।

गृह मंत्री अनिल विज बोले- अधिकारियों को तुरंत कार्रवाई के लिए कहा

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि यह घटना दुखद है। नफे सिंह राठी मेरे साथ विधायक भी रहे हैं। मैंने अधिकारियों से बात की है और उनको तुरंत कार्रवाई के लिए कहा है। स्पेशल टास्क फोर्स (STF) को भी लगाया है। मुझे उम्मीद है पुलिस जल्दी कार्रवाई करेगी। घटना की वजह क्या है, यह अभी कहना संभव नहीं है।

उम्र 65 साल, परिवार में दो बेटे
नफे सिंह राठी की उम्र लगभग 65 साल थी और वह 10वीं तक पढ़े हुए थे। परिवार में उनके दो बेटे हैं जिनमें नाम भूपेंद्र और जितेंद्र हैं। इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने राठी को दो साल पहले ही पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था।

हमले की खबर फैलते ही पुलिस में हड़कंप
नफे सिंह राठी पर दिनदहाड़े हुए इस हमले की खबर फैलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस की टीमें आनन-फानन में मौके पर पहुंचीं और घटनास्थल से गोलियों के खाली खोल और दूसरे सबूत इकट्ठा करने शुरू कर दिए।

हमलावरों की पहचान के लिए CCTV खंगाल रही पुलिस
हमलावर किस तरफ से आए और घटना के बाद किधर गए? यह जानने के लिए पूरे इलाके में सड़कों और दुकानों के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक करने की तैयारी की जा रही है।

लॉरेंस और काला जठेड़ी पर शक
इस हत्याकांड में कुख्यात बदमाश लॉरेंस बिश्नोई गैंग पर शक जताया जा रहा है। लॉरेंस के सबसे भरोसेमंदों में से एक काला जठेड़ी रोहतक-झज्जर इलाके में सबसे ज्यादा सक्रिय है। पुलिस सूत्रों के अनुसार करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी के विवाद के चलते लॉरेंस ने जठेड़ी के जरिए इस घटना को अंजाम दिलाया है।

2 बार विधायक रहे, लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके
नफे सिंह राठी हरियाणा विधानसभा में 2 बार विधायक रह चुके हैं और हरियाणा की पूर्व विधायक एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष भी थे। राठी 2009 में रोहतक सीट से लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। वह 2 बार बहादुरगढ़ नगर परिषद के चेयरमैन और कुश्ती संघ (भारतीय स्टाइल) के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे।

आत्महत्या केस में HC ने दिया था नफे सिंह को नोटिस
11 जनवरी 2023 को पूर्व मंत्री मांगेराम राठी के पुत्र जगदीश नंबरदार ने आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद पूर्व विधायक नफे सिंह राठी और उनके भांजे सोनू पर जगदीश नंबरदार को प्रताड़ित करने का आरोप लगा था। जगदीश नंबरदार की आत्महत्या के मामले में पिछले साल अगस्त में आरोपी नफे सिंह राठी को हाईकोर्ट ने नोटिस भेजा था।

इस मामले में मृतक जगदीश नंबरदार के भाई सतीश नंबरदार और पुत्र गौरव राठी ने नफे सिंह की जमानत रद्द करने की याचिका दायर की थी। 24 जनवरी 2023 को उक्त मामले में नफे सिंह की अग्रिम जमानत हुई थी। इसके बाद जगदीश नंबरदार के भाई सतीश नंबरदार ने नफे सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि आरोपी उनके गवाहों को धमका रहे हैं।

Khabar Abtak

Related Articles

Back to top button