Breaking NewsCrimeGohanaJudicial

मोहाना थाने के हवलदार प्रमोद की हत्या और पुलिस पर हमले के आरोपी को कोर्ट ने भेजा जेल

गोहाना :18-फरवरी : झज्जर जिले के खंगाई गाँव के संदीप पुत्र रमेश को रविवार को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया। उस पर हवलदार प्रमोद की हत्या करने तथा बाद में पुलिस पर जानलेवा हमला करने का आरोप है। अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

12 फरवरी की रात को मोहाना थाने के हवलदार प्रमोद कुमार का शव रुखी गांव में मिला था। वह ड्यूटी खत्म कर अपने गांव जसिया लौट रहा था। मृतक के शरीर पर वर्दी थी तथा उसकी पहचान उसके आई. कार्ड से हुई। मृतक की कार और मोबाइल फोन गायब थे। तब अज्ञात पर केस दर्ज किया गया था।

14 फरवरी की रात को रोहतक के स्पेशल टास्क फोर्स के पी.एस.आई. अरविंद कुमार अपनी टीम के साथ गोहाना-रोहतक रोड पर गश्त कर रहे थे। तभी उन्हें मुखबिर से सूचना मिली कि प्रमोद की हत्या में संलिप्त झज्जर के खुंगाई गांव का संदीप पुत्र रमेश ड्रेन नंबर 8 के पुल के निकट किसी की इंतजार में खड़ा है।

c3875a0e-fb7b-4f7e-884a-2392dd9f6aa8
1000026761

जब पुलिस ने रेड की, आरोपी ने पुलिस पर ही फायर कर दिया। इस पर हुए जवाबी फायर में गोली संदीप के पांव में लगी। इस पर उसे हिरासत में ले कर अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया गया। पुलिस पर जानलेवा हमला करने के आरोप में संदीप पर विभिन्न धाराओं के तहत बरोदा थाने में अलग से केस दर्ज किया गया।

पूछताछ में संदीप ने पुलिस को बताया कि हवलदार प्रमोद की हत्या कार को लूटने के मकसद से की गई थी तथा अंधेरे के चलते आरोपी उसे की वर्दी देख नहीं पाए थे। कार छीनने का जब हवलदार प्रमोद ने विरोध किया था, तब उसकी छाती में गोली मार दी गई जिससे उसकी मौत हो गई।

इलाज में स्वस्थ होने के बाद रविवार को बरोदा थाने की अनुसंधान टीम में नियुक्त सब इंस्पेक्टर जगबीर सिंह ने संदीप को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को अदालत में पेश कर दिया गया। अदालत के आदेश पर उसे न्यायिक हिरासत में जेल में भेज दिया गया।

Khabar Abtak

Related Articles

Back to top button