Breaking NewsGohanaReligionSocial

गीता मनीषी ज्ञानानंद जी महाराज बुसाना गांव में बूढ़ी माता के भंडारे और महिला सम्मान समारोह में आशीर्वाद प्रदान कर रहे थे

 

गोहाना :-2 अप्रैल : गीता मनीषी ज्ञानानंद जी महाराज ने मंगलवार को कहा कि ऐसे कर्म करो जो आप के जीवन में बाधक न बनें। वह बुसाना गांव में सर्वजातीय बारहा भाईचारा संगठन द्वारा आयोजित बूढ़ी माता के भंडारे और महिला सम्मान समारोह में आशीर्वाद प्रदान कर रहे थे। उन्होंने एक बनो-नेक बनो का संदेश दिया तथा कहा कि मनुष्य को कर्म करते रहना चाहिए। समाज में हमारी पहचान हमारे किए कर्मों से होती है।

विशिष्ट अतिथि किन्नर समाज की अध्यक्ष महंत स्वीटी और उनकी सहयोगी नंदिनी रहीं । अध्यक्षता मेजबान संगठन के अध्यक्ष खुशीराम भारतीय, सरपंच रामपाल पालू और समाजसेवी सुरेंद्र लठवाल ने की। मंच संचालन स्टेट अवार्डी राज कुमार सिंहमार ने किया। बुजुर्गों की रेस में मुंडलाना गांव के कर्ण सिंह प्रथम, रोहतक के सूबे सिंह द्वितीय और जवाहरा गांव के पाले राम तृतीय रहे।

महिला मटका दौड़ में अपने-अपने गांव में प्रथम रही महिलाओं में चिड़ाना में मनजीत, शामड़ी में वीना, सिरसाढ़ में संतोष, मुंडलाना में प्रमिला, बरोदा में सुमन, खंदराई में संजू, गंगाणा में सुदेश, मातंड में मीता, अहमदपुर माजरा में निर्मला, बिचपड़ी में अनु, गंगेसर में बबीता, दुराणा में आशा, जवाहरा में सुनीता, बुसाना में सुनीता, सिवाणका में नीलम, छतैहरा में उर्मिला, जागसी में बिंदिया, महमूदपुर में गीता और भादोठी में प्रमिला रहीं ।
महिलाओं की रस्साकशी में बुसाना, शामड़ी, सिवाणका, महमूदपुर, जवाहरा, चिड़ाना, सिरसाढ़ और मुंडलाना की टीम प्रथम स्थान पर रही।

Khabar Abtak

Related Articles

Back to top button